Reprogram Subconscious Mind Can Be Fun For Anyone






जॉब में प्रमोशन की बात हो तो उसके साथ वो फिर ये भी बात कर सकती थी कि प्रमोशन के बाद वो कैसी पर्स लेकर ऑफिस जाया करेंगी या कैसे कपडे पहनेंगी. जहाँ तक करियर की बात है, सुमति को कोई अंदाजा नहीं था कि इस नए जीवन में उसका क्या करियर है या क्या जॉब है. शादी के बाद वो काम कर सकेगी या नहीं? भले ही घर की छोटी छोटी चीजें वो संभालना चाहती थी पर वो अपनी जॉब नहीं छोड़ना चाहती थी… चाहे जैसी भी जॉब हों. और फिर क्या वो शादी के बाद माँ बनना पसंद करेगी? बड़ा भारी सवाल था जिसका जवाब अभी वो सोचना नहीं चाहती थी.

Devoid of your Subconscious mind, You can't remember your childhood encounters, earlier lives and so on. It's also within the Subconscious mind that our routines, character qualities, acquired behaviours and beliefs which include restricting beliefs are registered owning staying learnt via repetition and apply. Your Subconscious mind is the bridge involving Your system and Aware mind.

“देख रही हों अंजलि तुम? मैंने इसे गले लगाने कहा और यह मेरी आज्ञा की अवहेलना कर मेरे पैर छू रही है. मुझे तुरंत एक हग चाहिए!

महाराजा साहब ने जरा देर गौर करके पूछा—क्या उसका किसी सरकारी नौकर से संबंध है?

‘Some Little ones desperately preferred affirmation for every scribbled line; Other individuals desired to group up with buddies to horse all over or attract baseball gamers.’

माली की तो घिग्घी बंध गयी और मेरी यह हालत थी कि काटो तो बदन में लहू नहीं। दुनिया अंधेरी मालूम होती थी। मैं समझ गया कि आज मेरी शामत सर पर सवार है। वह मुझे जड़ से उखाड़कर दम लेगी। महाराजा साहब ने माली को जोर से डांटकर पूछा—तू खामोश क्यों है, बोलता क्यों नहीं?

फिलहाल तो मन रोने को तैयार था, पर अब उसके पास एक खुबसूरत औरत का तन भी तो था. एक मौका जिसके लिए लिए वो सारी ज़िन्दगी प्रार्थना करती रहती थी कि उसे औरत की तरह जीवन जीने का मौका मिल जाए. पर ये समय यह सब सोचने का न था. उसे अपने सास-ससुर के लिए नाश्ता बनाना था.. शादी के बारे में वो बाद में शान्ति से सोच लेगी.

“दोनों ही माँ-बेटी ड्रामा क्वीन हो! चलो, अब काम पर लग जाओ.. लोग आते ही होंगे.”, अंजलि ने हँसते हुए कहा.

“अब तुम शुरू मत हो जाना जी औरतों के कपडे के बारे में… तुम्हे कुछ तो पता नहीं होता कि दुल्हन को कितनी बातों का ध्यान रखना पड़ता है. बड़े आये बातें करने वाले.”, कलावती ने प्रशांत को टोका और सभी हँस पड़े.

They should assistance keep you potent mentally. Excellent goals, meanwhile, have Gains similar to daydreaming - they here make you're feeling superior and they greatly enhance creative imagination/imagination. Desires haven't got any Actual physical results past helping keep your brain chemistry in Test. For those who realize that, by way of example, you look or come to feel even worse when you have nightmares, it is not because of the nightmares - It really is more likely that you're just in a bad psychological and/or physical point out, which can be resulting in the two the nightmares as well as the physical signs or symptoms.

Why is meditation this kind of powerful anxiousness reliever? From constructing neurotransmitters, to quieting mind chatter, to cooling the amygdala, this extremely in-depth article discusses why anxiety isn't any match from meditation.

स्पर्शमात्र से ही उसके जिस्म में मानो बिजली दौड़ गयी और वो उन्माद में सिहर उठी. और उस उन्माद में खुद को काबू करने के लिए वो अपने ही होंठो को जोरो से कांटना चाहती थी.. क्योंकि अपने एक स्तन को अपने ही हाथ से धीरे से मसलते हुए वो बेकाबू हो रही थी. उसके तन में मानो आग लग रही थी. वो रुकना चाहते हुए भी खुद को रोक नहीं पा रही थी. मारे आनंद के वो चीखना चाहती थी. उसकी बेताबी बढती ही जा रही थी. उसकी उंगलियाँ उसके स्तन और निप्पल को छेड़ रही थी… और फिर उसकी उंगलियाँ उसके निप्पल के चारो ओर गोल गोल घुमाकर छूने लगी. “आह्ह्ह…”, वो आन्हें भरना चाहती थी पर उसे अपनी आन्हें दबाना होगा. उसकी उंगलियाँ अब जैसे बेकाबू हो गयी थी और उसके निप्पल को लगातार छेड़ रही थी. अब उसकी उंगलियाँ उसके निप्पल को पकड़ कर मसलने को तैयार थी. निप्पल दबाकर न जाने कितना सुख मिलेगा, यह सोचकर ही अब बस वो अपने होंठो को दबाते हुए अपने निप्पल को मसलने को तैयार थी.

Once you realize that your subconscious will bring you what you would like or need, and you begin Functioning everyday to job views and pictures of what you wish, seemingly probability-activities will start occurring to you. For the untrained mind, synchronicity seems to to become coincidence or luck, but it is neither.

“हां माँ! तुम ज़रा अपनी फेमस सलाद तैयार कर दोगी?”, सुमति ने मधु से कहा. “ओह, तो मैं सिर्फ सलाद बनाने के लिए याद आ रही थी तुम्हे? अच्छा तुम दोनों इतना कहती हूँ तो मैं मना कहाँ कर सकती हूँ. हाय ये माँ होना भी न आसान नहीं होता. बेटी कितनी भी बड़ी हो जाए अपनी माँ से काम करवाती ही रहती है”, मधुरिमा हमेशा की तरह एक मजबूर माँ का ड्रामा करती रही. पर सच में वो सिर्फ प्यार से सुमति को छेड़ रही थी. मधु ने फ्रिज से सलाद का सामान निकाला और धम-धम करती अपने पैरो की पायल को बजाती हुई सोफे पर धम्म से जाकर बैठ गयी.

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15

Comments on “Reprogram Subconscious Mind Can Be Fun For Anyone”

Leave a Reply

Gravatar